Monthly Archives: May 2020

Quote

किससे कहते कैसे कहते

मीत तुम्हारी वो बातें !

पूछ रहें हैं मेरे अपने

क्या तुमने दीं सौग़ातें ।

आंसू देकर आंसू पोछें

अपनों की अद्भुत बातें ।।

दिन भर अपनी अपनी धुन,

फिर चिंतित, कैसी हैं रातें ।

धुन अपनी है किसे बुझाती

सब अपनी चिंता गाथें ।।

दिन की धूप में , छाँव बने तुम

स्वप्न सभी तुमसे बाँटे।

साथ तुम्हारे चलते चलते

पल कुंदन बनते जाते ।।

सुख दूजे का नहीं सुहाए

मित्रों के खिंचते टाँके।

हम भी डर ,मुट्ठी को भींचे

जकड़न में तुम कस जाते ।।

खिचते खिचते टूटे रिश्ते

आँसू रोक ना रुक पाते ।

जितना तुमसे लड़ते भिड़ते

उतना ही जुड़ते जाते।।

सब कुछ ले कर, भी सब देते

तुममें हम यूँ रम जाते ।

तुम सा होते जाते हम

और तुमको खुद जैसा पाते ।।

अदलाबदली के चौपड़ में

हाथ तुम्हारे सब पासे ।

देख रहे यों मित्र से हैं, ज्यों

मन के अंदर वो झांकें।।

अब पाएँ क्या , अब खोए क्या

क्या हम किससे कह पाते ।

कैसे कह दें क्या होये तुम

और हम क्या ना हो पाते ।।

जाओ अब तुम क्या जाओगे

मन के द्वार खुले पाटे।

तुम से भी अब क्या हम बोलें

मीत तुम्हारी वो बातें ।।

मीत तुम्हारी वो बातें …..

Quote

एक दिया
जो जलता अविरल,
टूटे मन अवशेषों का
पीछे छूटी राह में, रखता
बंद द्वार उपदेशों का

एक दिया
विद्रोही कुछ,
किंचित थोड़ा अनुयायी सा
उत्तेजित भी, कुपित , द्रवित भी
बाट जोतते नेहों का

एक दिया जो
हृदय द्वेष का
जड़ के साथ विनाश करे
एक दिया तब ऐसा हो जो
भीतर तलक प्रकाश करे

एक दिया

Quote

Not with tears
But with a smile
Warm and naughty
To stretch a mile
I remember the songs
And twists and dance
And the über romantic
Hero in my glance
Oh yes
As you said
In the Enid Blyton tales
A character named Pudding
Sweet and flabby , full of games
A foodie to a foodie
The best drink buddy
A fashionista of his kind
A hero who none would mind
Aunt turn the girls as yet
Just like Neetu
Who never age
When thinking of him
And that’s where

……..the moments froze !

RIP Chintu

Romance in Rishi style stays immortal but…..