Monthly Archives: June 2017

Quote

Embracing the clouds

Strolling the greens

The misty mornings

And sun kissed peaks;

That you behold ;

And virgin beauty

That reflects in the pleasure

That your smile holds ,

.

A sneak out of the crowd

To meet the me

A walk out of the noise

To listen to thee

Entwined I grow

Deriving my feed

From the words I love

That nurture and shapes me

.

The words of silence

Spoken through the soul

– to me …..or not to me

But that gives me space

To stay beside

And imbibe the best

Memories for life !

.

.

.
Moments, and not place makes

The “perfect” getaway !

24/06/2017

Getaway

Quote

“जो बीत गयी वो बात गयी”……..


पर गयी कहाँ?

जग के परदे से उठ कर के 

मन के आँचल में छिप कर के 

रह गयी सदा 

नानी की जो हो कहानी सी

कहने वाले देते हो भुला

सुनने वाले की स्मृतियों में 

रह जाती जो अस्तित्व बना


जाने किस किस बातों से जग

जाने क्या फिर फिर याद दिला

कभी आँसू से, कभी ख़ुशियों से

रखतीं अंतर महका महका

जो बीत गयी वो गयी नहीं

वो बात बदल कर रूप कहीं

या कभी ओढ़ कर चुनर नयी 


वो बीती तो पर बात रही !!

बच्चन जी से एकमत नहीं कभी कभी…..